Blog

जॉन्डिस के क्लीनिकल फीचर्स – डॉ. अमित अग्रवाल – अग्रवाल गैस्ट्रोकेयर सेंटर इंदौर

जॉन्डिस यानि पीलिया एक ऐसी स्तिथि है जिसमे रोगी की त्वचा और आंखे पीली हो जाती है। लिवर की कुछ बिमारियों की तरह पीलिया को भी गंभीर बीमारी मन जाता है। यह आपके शरीर में बिलीरुबिन नामक पीले पदार्थ के बनाने के कारण होता है। बच्चे अक्सर इस बीमारी की चपेट में आ जाते हैं, हालांकि इसमें कोई खतरे की बात नहीं है। लेकिन अगर बड़े इस बीमारी की चपेट में आ जाएं तो यह चिंता का विषय बन सकता है। इसे ठीक होने में भी लंबा वक्त लग जाता है। समय पर पीलिया का इलाज नहीं कराने पर सेप्सिस हो सकता है और कुछ मामलों में लिवर फेल भी हो सकता है। इसलिए सही समय पर इसका इलाज करवाना आवश्यक है।

जॉन्डिस के क्लीनिकल फीचर्स - डॉ. अमित अग्रवाल - अग्रवाल गैस्ट्रोकेयर सेंटर इंदौर

जॉन्डिस के क्लीनिकल फीचर्स | Clinical Features of Jaundice

कभी-कभी किसी व्यक्ति में पीलिया के लक्षण दिखाई नहीं देते हैं, जॉन्डिस के कुछ क्लीनिकल फीचर्स में से है यह: –

  • त्वचा पर और आंखों के सफेद भाग में पीलापन
  • उल्टी और मतली
  • तेज़ बुखार आना और शरीर में दर्द होना
  • गहरे रंग का पेशाब
  • भूख में कमी
  • हल्के रंग का मल
  • पेट दर्द (विशेष रूप से लिवर के आस-पास)
  • व्यक्ति को कमज़ोरी भी महसूस हो सकती है
  • पीलिया होने पर वजन घटने की सम्भावना भी होती है
  • गीले पदार्थ के जमा होने के कारण पेट में सूजन आ जाती है
  • हर समय थकन महसूस होना
  • शरीर में जलन होना
  • कब्ज की शिकायत रहना

अगर आप ऊपर दिए गए क्लीनिकल फीचर्स को खुद में अनुभव करते हैं या आपको इस बात की शंका है कि आप पीलिया का शिकार बन चुके है तो तुरंत डॉक्टर से मिलकर इस बारे में बात करें। डॉक्टर क्लींनिकल फीचर्स के आधार पर कुछ जांच करके सटीक कारण को पहचान कर सही समय पर उचित इलाज प्रदान कर सकते हैं।

और भी अधिक जानकारी प्राप्त करें जॉन्डिस से संबंधित तो, सम्पर्क करे अग्रवाल गैस्ट्रो सेंटर पर|

No Comments
Post a Comment
Name
E-mail
Website